मुकेश खन्ना ने कहा अल्ला बम या बदमाश जीसस नाम रख सकते है क्या? लक्ष्मी बम टाइटल पर भड़के मुकेश खन्ना

बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री हमेशा ही चर्चा में बनी रहती है, चाहे वो किसी नयी फिल्म के सौ करोड़ के क्लब में शामिल होने की उपलब्धि हो या किसी युवा अभिनेता और अभिनेत्री के लव अफेयर और ब्रेकअप के चर्चे. लेकिन साल 2020 जिस तरह से हम सभी के जीवन में कुछ ऐसे अनुभव दे गया जिसे हम याद नही रखना चाहते. उसी प्रकार बॉलीवुड के लिए भी साल 2020 बहुत ही कष्टदायक था. इसके पीछे कुछ ऐसे कारण थे, जिसमें मनुष्य का कोई बस नही चलता, जैसे अभिनेता इरफ़ान खान और ऋषि कपूर का इस दुनिया को छोड़ कर चला जाना. लेकिन इस छति से ज्यादा पीड़ादायक घटना तब घटी जब यह खबर मिली कि सुशांत सिंह अब इस दुनिया में नहीं रहे. अब भी यह रहस्य है की सुशांत सिंह राजपूत ने आत्महत्या की या उनकी हत्या हुई. लेकिन एक छोटे से शहर का होनहार लड़का जो अपने कला के प्रदर्शन से करोड़ों लोगों के दिल पर राज करता था, जिसका बॉलीवुड इंडस्ट्री में कोई गॉड फादर नही था, की असामयिक मौत पर बड़े बड़े सितारे, जो की बड़ी बड़ी आदर्शवादी बाते किया करते थे, वो सुशांत सिंह राजपूत की अंतिम यात्रा तक में नही पहुंचे. और न ही सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर कोई प्रतिक्रिया दी. इन सब बातो ने जनता को इन तथाकथित महानायक और राष्ट्रवादी अभिनेताओ की पोल खोल कर रख दी .

ताजा विवाद अक्षय कुमार की फिल्म ‘लक्ष्मी बम’ को लेकर खड़ा हो गया है, बहुत से लोगों को फिल्म के नाम में देवी लक्ष्मी के साथ ‘बम’ शब्द से आपत्ति है, और होनी भी चाहिए. क्या किसी हिन्दू देवी के नाम में बम जैसे शब्दों को जोड़ना उचित है, बिलकुल नही . लेकिन बॉलीवुड को हमेशा से ही हिन्दू देवी देवताओ का अपमान करने की पुरानी आदत है. दृष्टान्त के रूप में पाताल लोक वेब सीरीज में कुतिया का नाम ‘सावित्री’ रखा गया , मंदिर में मांस खाते हुए दिखाया गया . स्टूडेंट ऑफ़ इयर फिल्म के एक गाने में ‘राधा’ नाम से पहले आपत्ति जनक अश्लील शब्द का प्रयोग किया गया. जिसका दोबारा प्रयोग करना भी मै उचित नही समझता, पी के फिल्म में शिव जी को एक दूसरे ग्रह से आया इंसान दौड़ा लेता है.  इसी तरह के बहुत से उदहारण आपको मिल जायेंगे जिसमे बॉलीवुड ने अभिनय के नाम पर अश्लीलता को परोसा है, और हिन्दू देवी देवताओ और सनातन परम्पराओ का अपमान किया है, और इन बॉलीवुड फिल्म निर्माताओ और अभिनेताओ को यह लगता है की इनको सनातन परम्पराओं का अपमान करने का लाइसेंस मिल गया है.

लक्ष्मी बम फिल्म के टाइटल पर शक्तिमान और महाभारत में गंगा पुत्र भीष्म का किरदार निभा चुके लोकप्रिय अभिनेता मुकेश खन्ना ने कड़ा ऐतराज किया. मुकेश खन्ना ने ट्वीट किया: “क्या लक्ष्मी बम टाइटल से कोई फिल्म रिलीज होनी चाहिए? इस पर पूरे देश में बहस छिड़ी हुई है। कुछ लोग फिल्म को बैन करने की मांग कर रहे हैं। मुझसे पूछो तो फिल्म बैन जायज नहीं है। क्योंकि किसी ने फिल्म अभी देखी नहीं है। सिर्फ ट्रेलर देखा है। फिल्म अभी बाकी है। तो टाइटल की ही बात करते हैं”

मुकेश खन्ना आगे लिखते है लक्ष्मी के आगे बम जोड़ना शरारत से भरा लगता है। कमर्शियल इंट्रस्ट की सोच लगती है। क्या इसे एलाऊ  करना चाहिए? बिलकुल नहीं।क्या आप अल्लाह बम या बदमाश जीसस फिल्म का नाम रख सकते हैं? नहीं। तो फिर लक्ष्मी बम कैसे? ये फिल्मी लोग इसलिए करते हैं कि वो जानते हैं कि इससे शोर मचेगा। लोग चिल्लाएंगे। फिर चुप हो जाएंगे।लगे हाथ फिल्म का प्रमोशन भी हो जाएगा। ‘हिंदुओं को सॉफ्ट टारगेट समझते हैं। उन्हें पता है कि किसी और धर्म या सांप्रदाय से ये पंगा लेकर के बताओ तो तलवारें निकल जाएंगी-तलवारें। इसलिए उनको लेकर फिल्मों के टाइटल नहीं बनते”

अब ये तो आने वाला समय ही बतायेगा की फर्जी राष्ट्रवाद का चोला ओढ़े खिलाडी कुमार की फिल्म बॉक्स ऑफिस पर हिट होती है या फ्लॉप .

आप अपनी प्रतिक्रिया कमेंट बॉक्स में जरुर दे .

About Ashutosh Mishra

I AM ASHUTOSH MISHRA.

View all posts by Ashutosh Mishra →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *