विवादित शायर मुनौव्वर राणा की शाहीन बाग़ समर्थक बेटी कांग्रेस पार्टी में शामिल

विवादों में घिरे रहने वाले शायर मुनौव्वर राणा की बेटी उरुसा राणा ने कांग्रेस पार्टी का दामन थाम लिया है, मुनौव्वर राणा की बेटी उरूषा राणा को कांग्रेस महिला समिति की अध्यक्ष ममता चौधरी ने कांग्रेस महिला समिति के उपाध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया।

उरुषा राणा नागरिकता संशोधन कानून के विरोध के समय चर्चा में आई थी , मुनव्वर राणा की दो और बेटियां जिसमें फोजिया राणा और सुमैया राणा भी शामिल है , जिन्होंने नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन किया था और उसी समय वह चर्चा में आई थी।  फोजिया राणा और सुमैया राणा भी कांग्रेस पार्टी में शामिल हो चुकी हैं

फोजिया राणा ने लखनऊ में घंटा घर पर नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में धरना दिया था, और उनके खिलाफ एफ आई आर भी दर्ज की गई थी। 

उरूषा राणा और सुमैया राणा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार को खुली चुनौती देते हुए लखनऊ के घंटाघर पर कई दिनों तक नागरिकता के कानून के विरोध में प्रदर्शन किया था ।

मुनव्वर राणा वैसे तो शायरी के लिए जाने जाते हैं. मुनव्वर राणा को साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित भी किया जा चुका है. लेकिन पिछले कुछ समय से मुनव्वर राणा अपनी शायरी की वजह से कम अपने विवादित बयानों की वजह से ज्यादा चर्चा में रहते हैं. भारत की न्यायपालिका के इतिहास के सबसे पुराने मामलों में से एक श्री राम जन्मभूमि विवाद का फैसला पिछले वर्ष के नवम्बर महीने की 9 तारीख को भारत की सर्वोच्च न्यायिक संस्था सुप्रीम कोर्ट की  पांच न्यायाधीशों की पीठ द्वारा सर्वसम्मति से दिया गया. जिससे वर्षो पुराने विवाद का निपटारा हो गया. सुप्रीम कोर्ट की जिस बेंच ने श्री राम जन्मभूमि विवाद पर फैसला दिया उसमे भारत के तत्कालीन मुख्य न्यायाधीश जस्टिस रंजन गोगोई भी थे . जस्टिस रंजन गोगोई पर विवादित शायर मुनव्वर राणा ने बहुत ही अशोभनीय और घृणित टिप्पणी की थी. मुनव्वर राणा  ने कहा था कि,”रंजन गोगोई इतनी कम कीमत पर बिक गए जितने में हिंदुस्तान में कोई र@ndi भी नही बिकती”

मुनव्वर राणा के इस बयान  पर उनकी आलोचना भी खूब  हुई लेकिन मुनव्वर राणा को आलोचनाओं से शायद कोई फर्क नहीं पड़ता.

आपकी इस मुद्दे पर क्या राय है हमें कमेंट करके जरुर बताये.

Leave a Comment