थम नही रहा ममता का जंगलराज रैली निकाल रहे बीजेपी कार्यकर्ताओं पर रॉड लाठी डंडो से हमला

पश्चिम बंगाल में बीजेपी कार्यकर्ताओ की आये दिन हत्याएं होती रहती है , पश्चिम बंगाल के हालात किसी से छुपे हुए नही है . तृणमूल कांग्रेस के गुंडे बीजेपी कार्यकर्ताओं पर अक्सर हमले भी किया करते हैं . अभी कुछ महीने पहले जुलाई में बीजेपी विधायक देवेन्द्र नाथ रॉय का शव उत्तर दिनाज पुर जिले में उनके घर के पास एक दुकान में लटका हुआ मिला था . जिस पर पुलिस ने वारदात को आत्महत्या बताया, और कहा की उनके पास एक सुसाइड नोट बरामद हुआ. जिसमे उन्होंने तीन लोगों को जिम्मेदार बताया है . इस घटना पर बीजेपी नेता राहुल सिन्हा ने घटना की सीबीआई जांच करवाने की मांग की थी . उन्होंने कहा की विधायक देवेन्द्र नाथ रॉय की हत्या के पीछे तृणमूल कांग्रेस का हाथ है .

पश्चिम बंगाल के बर्धमान जिले में बीजेपी कार्यकर्ताओं के द्वारा केंद्र सरकार द्वारा पारित किये गए कृषि कानूनों के समर्थन में रैली निकाली, लेकिन रैली के दौरान भारी संख्या में टी एम सी कार्यकर्ताओ ने लाठी डंडो से हमला कर दिया. घटना का विडियो भी सामने आया है, जिसमे ममता की पार्टी के लोग बीजेपी कार्यकर्ताओं पर हमला करते दिख रहे हैं.

पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की सरकार के रवैये को लेकर वहां के राज्यपाल महामहिम जगदीप  धनगड अक्सर ही बयान देते रहते हैं साथ ही साथ वो केंद्र सरकार को लगातार राज्य के हालात को लेकर अपनी रिपोर्ट केंद्र सरकार को भेजते रहते हैं .

वर्ष 2019 में हुए लोकसभा चुनाव में लगभग सभी एग्जिट पोल और ओपिनियन पोल यह दावा कर रहे थे की भारतीय जनता पार्टी पश्चिम बंगाल में ज्यादा से दो या तीन सीटें ही जीत पायेगी लेकिन भारतीय जनता पार्टी के तत्कालीन अध्यक्ष और मौजूदा गृहमंत्री अमित शाह के कुशल नेतृत्व की दूरदर्शिता और कार्यकुशलता से भारतीय जनता पार्टी पश्चिम बंगाल में 18 सीटें जीतने में कामयाब हो गयी. जिसके बाद से ममता बनर्जी को अपनी मुख्यमंत्री की कुर्सी जाती हुई दिख रही है. अगले साल 2021 के अप्रैल महीने में पश्चिम बंगाल में विधानसभा के चुनाव होने वाले हैं और जिस प्रकार से लोकसभा चुनाव में मोदी फैक्टर की बदौलत भारतीय जनता पार्टी ने अप्रत्याशित जीत हांसिल की थी अगर ऐसा विधानसभा चुनाव में भी हो गया तो ममता बनर्जी की सरकार जाना तय है.

Leave a Comment